Breaking News
कटासराज मंदिर के लिए भारत से 139 श्रद्धालुओं का जत्था पाकिस्तान रवाना         ||           रामदास आठवले ने कहा कार्यक्रम में सुरक्षा इंतजाम नहीं थे पर्याप्त         ||           ब्राजील में बैंक लूट के प्रयास में 14 लोगो की मौत         ||           टीएमसी कार्यकर्ताओं ने भाजपा की रैली के बाद गंगाजल से मैदान का शुद्धिकरण किया         ||           पेट्रोल-डीजल फिर सस्ता हुआ         ||           श्रीनगर में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में पांच जवान घायल, दो आतंकी ढेर         ||           जीतू फौजी........         ||           आज का दिन :         ||           new Chief economic adviser         ||           आज का दिन :         ||           पंश्चिम बंगाल में बी.जे.पी की रथ यात्रा         ||           अश्विन .... विन... विन         ||           ज्वाला गुट्टा वोट नहीं डाल पाईं         ||           आर्मी जवान पर इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या का शक:         ||           कुछ आसान हो जायेगा ऑनलाइन ट्रान्सेक्शन         ||           पुजारा की जोरदार पारी .......         ||           . माधुरी दीक्षित और राजनीति ........         ||           आज का दिन :         ||           डिजिटल करेंसी         ||           विराट की खरी खरी         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> इजरायल के राष्ट्रपति अगले सप्ताह भारत यात्रा पर

इजरायल के राष्ट्रपति अगले सप्ताह भारत यात्रा पर


Vniindia.com | Thursday November 10, 2016, 10:52:24 | Visits: 224







नई दिल्ली, १० नवंबर (वी एन आई) इजरायल के राष्ट्रपति रियुवेन रिवलिन अगले सप्ताह भारत की यात्रा पर आएंगे। श्री रिवलिन आगामी १४ से २१ नवंबर तक भारत की यात्रा पर आयेंगेकिसी भी इजरायली राष्ट्रपति द्वारा पिछले 20 साल में भारत की यह पहली आधिकारिक यात्रा होगी।भारत के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के आमंत्रण पर श्री रिवलिन भारत की यात्रा करेंगे.इजरायल दूतावास के अनुसार पिछले वर्ष अक्टूबर में भारत के राष्ट्रपति मुखर्जी की इजरायल दौरे के मद्देनजर रिवलिन आधिकारिक यात्रा पर भारत आ रहे हैं। उनकी यह यात्रा भारत के साथ इजरायल के बढ़ रहे सहयोग संबंधों का प्रतीक है।
अपनी यात्रा के दौरान रिवलिन नई दिल्ली में भारत के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य सरकारी अधिकारियों से मुलाकात करेंगे। सरकारी सूत्रो के अनुसार आगामी १५ नवंबर को वे प्रधान मंत्री मोदी के साथ उभय पक्षीय वार्ता करेंगे. दोनो देशोकेबीच आर्थिक,विज्ञान प्राद्द्योगिकी अनुसंधान, संस्कृति,पर्यटन और शिक्षा के क्षेत्र मे प्रगाढ संबंध है. भारत् यात्रा के दौरान राष्ट्रपति रिवलिन मुंबई भी जाएंगे और भारत के राष्ट्रपति के साथ चंडीगढ़ में एग्रो टेक कॉन्फ्रेंस का उद्घाटन करेंगे। दूतावास के अनुसार भारत में इजरायल के राजदूत डेनियल कारमोन ने कहा कि राष्ट्रपति रिवलिन की भारत यात्रा काफी महत्वपूर्ण होगी। यह दोनों देशों के बीच के मजबूत संबंधों का प्रतीक है। यह एक ऐतिहासिक प्रक्रिया का हिस्सा है और इसका अगला अध्याय दोनों देशों के बीच सैन्य सहयोग, आंतरिक सुरक्षा और खाद्य सुरक्षा के अलावा कृषि, जल प्रबंधन और शिक्षा के क्षेत्रों में बढ़ रहे सहयोग को और भी मजबूत करने पर आधारित होगा।राष्ट्रपति रिवलिन इजरायल के विश्वविद्यालयों के 15 प्रमुख सहित व्यापारिक और शैक्षणिक प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे, जिसमें इजरायल की कंपनियों के नुमाइंदे भी शामिल होंगे। इन कंपनियों में से कई पहले से ही भारत में सफलतापूर्वक सक्रिय हैं। रिवलिन की इस यात्रा के दौरान भारत और इजरायल के बीच कृषि और जल प्रबंधन के क्षेत्र में बढ़ रहे आर्थिक संबंधों को और भी मजबूत करने पर ध्यान दिया जाएगा। साथ ही पिछले साल इजरायल में भारत के राष्ट्रपति की ओर से शिक्षा के क्षेत्र में सहयोग को बढ़ावा देने के लिए जिस एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए थे, उसे बढ़ावा देने की दिशा में काम किया जाएगा।
रिवलिन की इस यात्रा के दौरान नई दिल्ली में भारत सरकार के अधिकारियों, व्यापार क्षेत्र के प्रतिनिधियों और विश्वविद्यालयों के प्रमुखों के साथ बैठकों का आयोजन किया जाएगा। इसके अलावा रिवलिन ताजमहल देखने आगरा जाएंगे, साथ ही वहां पास ही में स्थापित इजरायली वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट “एक्वाइज” का भी दौरा करेंगे। रिवलिन हरियाणा के करनाल में भारत और इजरायल के सहयोग से जल रही कृषि योजनाओं के तहत स्थापित विशिष्ट केंद्र जाएंगे। वे चंडीगढ़ में होने वाले एग्रो टेक 2016 का उद्घाटन करेंगे। रिवलिन मुंबई में भारतीय उद्योग जगत के प्रतिनिधियों और यहूदी समुदाय के साथ बैठक करेंगे।
दूतावास के अनुसार राष्ट्रपति रिवलिन ने अगस्त में भारत के राजदूत का इजरायल में स्वागत करते हुए कहा था कि दोनों देशों के लोगों के बीच काफी समानताएं हैं। हम जानते हैं कि अपनी परंपराओं का कैसे सम्मान करें। साथ ही हम अपने लोगों की भलाई के लिए इनोवेशन करने और कुछ नया जानने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं।
राष्ट्रपति रिवलिन की जब मार्च 2015 में सिंगापुर में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुलाकात हुई तो उन्होंने कहा था कि दोनों देशों के बीच के अच्छे संबंध मजबूत नींव पर टिके हैं। दोनों देश समान मूल्यों को साझा कर रहे हैं, साथ ही सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि दोनों मजबूत लोकतंत्र हैं।वी एन आई

Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें