Breaking News
अखिलेश यादव ने कहा योगी सरकार का श्वेत पत्र सफेद झूठ         ||           सेंसेक्स 2 अंक की गिरावट पर बंद         ||           शिवराज सिंह चौहान ने नवरात्रि की शुभकामनाएं दीं         ||           भारतीय बास्केट में कच्चे तेल की कीमत 54.76 डॉलर प्रति बैरल         ||           आम आदमी पार्टी ने कहा ईंधन कीमतों को अंतर्राष्ट्रीय बाजार से जोड़ा जाए         ||           बीसीसीआई ने पद्म भूषण के लिए धौनी के नाम की सिफारिश की         ||           क्रेग ब्राथवेट अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी कर सकेंगे         ||           मद्रास उच्च न्यायालय ने कहा अगले आदेश तक कोई बहुमत परीक्षण नहीं         ||           हर्षवर्धन ने कहा अनिल कपूर ने बिंद्रा पर बायोपिक की तैयारी शुरू की         ||           राहुल गाँधी ने कहा मोदी सरकार के खिलाफ जनता में बढ़ रहा है गुस्सा         ||           भारी बारिश से मुंबई में उड़ानें प्रभावित         ||           विश्वकप 2019 में श्रीलंका को वेस्टइंडीज की हार से मिला प्रवेश         ||           जापान बैडमिंटन ओपन में जीते किदांबी, प्रणॉय, समीर         ||           नीतीश कुमार के उद्घाटन करने के पूर्व ही बिहार में टूटा नहर सिंचाई परियोजना बांध         ||           पाकिस्तान सीमा के पास बीएसएफ ने दो तस्कर मार गिराए         ||           पंजाब में पटाखे के गोदाम में विस्फोट, पांच लोगो की मौत         ||           नोएडा में पुलिस के साथ मुठभेड़ में 1 अपराधी ढेर         ||           राजधानी दिल्ली में धूपभरी सुबह, बारिश होने की संभावना         ||           उप्र में आंशिक बदली, बूंदबांदी के आसार         ||           मेक्सिको में तेज भूकंप के झटके, 149 लोगो की मौत         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> घोर गरीबी से मजबूर हो कर बेचे गये शिशु को बेचने का आरोप पिता ने मॉ पर डाला-शिशु की वापसी के प्रयास

घोर गरीबी से मजबूर हो कर बेचे गये शिशु को बेचने का आरोप पिता ने मॉ पर डाला-शिशु की वापसी के प्रयास


Vniindia.com | Sunday May 07, 2017, 05:33:09 | Visits: 96









अगरतला,७ मई त्रिपुरा (वी एन आई)में जिस मामले में घोर गरीबी से मजबूर महज 200 रुपयों के लिए एक माँ ्द्वारा अपने जिगर के टुकड़े को बेच देने का मामला सुर्खियो मे आया था ,उस महिला के पति यानि बच्चे के पिता ने इस मामले मे पूरा दोष मॉ पर डाल दिया है ,उसका कहना है का कहना है मैने मॉ को बहुत समझाया था बच्चे के पिता खानजॉय रियांग का कहना है "मैंने बच्चे को न बेचने के लिए बहुत जोर दिया लेकिन इसकी माँ ने 200 रुपयों के लिए इसे बेच ही डाला। गरीबी रेखा के नीचे आने वाली इस आदिवासी महिला पर आरोप है कि अपने बच्चे को उसने पिछले महीने की 13 अप्रैल को इसी राज्य के लक्ष्मीपुर एडीसी गांव में रहने वाले ऑटो ड्राइवर, दनशाई को बेचा था

उसने पूरी बात बताते हुए कहा कि, "जब गांव के मुखिया के सामने इस मुद्दे को उठाया गया तो वहां यह फैसला हुआ कि मैं अपने बच्चे को वापस लाऊंगा और इसीलिए मैं उस व्यक्ति से मिलने गया जिसे हमने हमारे बच्चे को बेचा था। "
यह दंपत्ति जब वहां पहुंचा तो जवाब मिला कि वह केवल माँ को ही बच्चा वापस करेगा। इसी बीच समाज कल्याण और सामाजिक शिक्षा विभाग ने कहा कि वह बच्चे को अपने माता-पिता के पास वापस लाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है।"
स्थानीय बाल विकास कार्यालय के अनुसार उन्हें इस घटना की जानकारी हो चुकी है और वे चाइल्ड लाइन के माध्यम से उस बच्चे को उसकी मां को वापस करने के लिए सभी प्रयास कर रहे हैं।

घोर गरीबी के आलम मे इस तरह्के दर्दनाक उदाहरण जब तब दिखाई देते है, इससे महज कुछ दिनों पहले ढलाई जिले के अलताछर्रा एडीसी गांव में एक आदिवासी महिला ने अपने बीमार पति के इलाज का खर्चा उठाने के लिए अपने 11 दिन के बच्चे को 5000 रुपयों में बेच दिया था। त्रिपुरा में, पिछले 2 सालों में गरीब आदिवासी परिवार द्वारा बच्चों के बेचे जाने के कम से कम 4 मामले सामने आ चुके हैं।

Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें