Breaking News
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा ग्राम स्वराज अभियान घर-घर सेवा वितरण का बढ़िया उदाहरण         ||           राजनाथ सिंह ने तूतीकोरिन में लोगों की मौत पर शोक जताया         ||           सेंसेक्स 318 अंकों की तेजी पर बंद         ||           अक्षय कुमार ने कहा चर्चा शुरू करके ही बदलाव लाया जा सकता है         ||           मुगुरुजा और सेरेना का फ्रेंच ओपन के लिए प्रशिक्षण शुरू         ||           तेल की बढ़ती कीमत के विरोध में गोवा कांग्रेस नेता ने तांगा चलाया         ||           चोटिल विराट कोहली सरे के लिए नहीं खेल पाएंगे         ||           नेतन्याहू ने कहा ईरान की आक्रामकता को रोकने के लिए इजरायल के इरादे अटल         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने कहा अपना फिटनेस वीडियो जल्द साझा करूंगा         ||           फडणवीस ने कहा कई नेता भाजपा में शामिल होने के लिए कतार में         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने नीदरलैंड के प्रधानमंत्री से मुलाकात की         ||           अनुपम खेर ने कहा अच्छा सिनेमा सामाजिक बदलाव का माध्यम         ||           छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सली हमले में दो जवान घायल         ||           चीन को अमेरिका के सैन्याभ्यास से बाहर का रास्ता         ||           आमिर खान ने कहा मै फिल्म उद्योग में प्रवाह की विपरीत दिशा में बहा         ||           उत्तर कोरिया ने कहा द्विपक्षीय बैठक का भविष्य अमेरिका पर निर्भर करेगा         ||           स्पेन में पटाखों में विस्फोट से 1 की मौत         ||           योगी सरकार ने कन्याओं की शादी में मदद के लिए अनुदान राशि जारी की         ||           दिल्ली के अस्पताल के पास भीषण आग लगी         ||           शेयर बाजार हरे निशान पर खुले         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> घोर गरीबी से मजबूर हो कर बेचे गये शिशु को बेचने का आरोप पिता ने मॉ पर डाला-शिशु की वापसी के प्रयास

घोर गरीबी से मजबूर हो कर बेचे गये शिशु को बेचने का आरोप पिता ने मॉ पर डाला-शिशु की वापसी के प्रयास


Vniindia.com | Sunday May 07, 2017, 05:33:09 | Visits: 290









अगरतला,७ मई त्रिपुरा (वी एन आई)में जिस मामले में घोर गरीबी से मजबूर महज 200 रुपयों के लिए एक माँ ्द्वारा अपने जिगर के टुकड़े को बेच देने का मामला सुर्खियो मे आया था ,उस महिला के पति यानि बच्चे के पिता ने इस मामले मे पूरा दोष मॉ पर डाल दिया है ,उसका कहना है का कहना है मैने मॉ को बहुत समझाया था बच्चे के पिता खानजॉय रियांग का कहना है "मैंने बच्चे को न बेचने के लिए बहुत जोर दिया लेकिन इसकी माँ ने 200 रुपयों के लिए इसे बेच ही डाला। गरीबी रेखा के नीचे आने वाली इस आदिवासी महिला पर आरोप है कि अपने बच्चे को उसने पिछले महीने की 13 अप्रैल को इसी राज्य के लक्ष्मीपुर एडीसी गांव में रहने वाले ऑटो ड्राइवर, दनशाई को बेचा था

उसने पूरी बात बताते हुए कहा कि, "जब गांव के मुखिया के सामने इस मुद्दे को उठाया गया तो वहां यह फैसला हुआ कि मैं अपने बच्चे को वापस लाऊंगा और इसीलिए मैं उस व्यक्ति से मिलने गया जिसे हमने हमारे बच्चे को बेचा था। "
यह दंपत्ति जब वहां पहुंचा तो जवाब मिला कि वह केवल माँ को ही बच्चा वापस करेगा। इसी बीच समाज कल्याण और सामाजिक शिक्षा विभाग ने कहा कि वह बच्चे को अपने माता-पिता के पास वापस लाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है।"
स्थानीय बाल विकास कार्यालय के अनुसार उन्हें इस घटना की जानकारी हो चुकी है और वे चाइल्ड लाइन के माध्यम से उस बच्चे को उसकी मां को वापस करने के लिए सभी प्रयास कर रहे हैं।

घोर गरीबी के आलम मे इस तरह्के दर्दनाक उदाहरण जब तब दिखाई देते है, इससे महज कुछ दिनों पहले ढलाई जिले के अलताछर्रा एडीसी गांव में एक आदिवासी महिला ने अपने बीमार पति के इलाज का खर्चा उठाने के लिए अपने 11 दिन के बच्चे को 5000 रुपयों में बेच दिया था। त्रिपुरा में, पिछले 2 सालों में गरीब आदिवासी परिवार द्वारा बच्चों के बेचे जाने के कम से कम 4 मामले सामने आ चुके हैं।

Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें