Breaking News
किडनी-लिवर बेचने वाले गिरोह का कानपुर पुलिस ने किया पर्दाफाश         ||           सहमति शिव सेना और बीजेपी में         ||           कुलभूषण जाधव केस मे इंटरनेशन कोर्ट में सुनवाई शुरू         ||           राहुल की मौजूदगी मे कांग्रेस में शामिल हुए सांसद कीर्ति आजाद         ||           मारा गया पुलवामा आतंकी हमले का मास्टरमाइंड ग़ाज़ी         ||           आज का दिन :         ||           आज का दिन :         ||           वायु शक्ति-2019         ||           क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया का अनूठा विरोध         ||           पुलवामा हमला-कश्मीर के पॉच अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा हटाई गई         ||           महानायक शहीदों की आर्थिक मदद के लिए आगे आए हैं.         ||           Hyderabad Special Tomato Chutney         ||           ब्रिटेन ने अपने नागरिकों को पाकिस्तान से सटे सीमाई इलाकों से दूर रहने की सलाह दी         ||           पुलवामा आतंकी हमले पर चीन की संवेदना में पाकिस्तान व जैश का जिक्र नही         ||           ठोको ताली-सिद्धू का कपिल शर्मा शो से जाना पहले से तय था         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने कहा हम छेाड़ते नहीं, किसी ने छेड़ा तो छोड़ते नहीं         ||           राजनाथ सिंह ने इंटेलीजेंस के अफसरों से मुलाकात की         ||           वंदे भारत एक्सप्रेस         ||           लोकसभा चुनाव की तारीखों के बाद जारी होगा IPL 2019 का कार्यक्र्म         ||           सब दलों कि मीटिंग बैठक में गृह मंत्री बोले- सुरक्षा बलों को पूरी छूट         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> गुरुदत्त के जन्मदिन पर

गुरुदत्त के जन्मदिन पर


admin ,Vniindia.com | Monday July 09, 2018, 10:15:00 | Visits: 107







मुंबई, 09 जुलाई, (सुनील कुमार/वीएनआई) गुरु दत्त (वास्तविक नाम: वसन्त कुमार शिवशंकर पादुकोणे, जन्म: 9 जुलाई, 1925 बैंगलौर, निधन: 10 अक्टूबर, 1964 बम्बई) हिन्दी फिल्मों के जाने  माने  अभिनेता,निर्देशक एवं  निर्माता थे। उन्होंने 1950वें और 1960वें दशक में कई उच्च  कोटि  की  फिल्में बनाईं जैसेप्यासा,कागज़ के फूल,साहिब बीबी और ग़ुलाम और चौदहवीं का चाँद। 



प्यासा और काग़ज़ के फूल को  टाइम पत्रिका के 100 चुनिंदा फिल्मों की सूचि में जगह  मिली और साइट एन्ड साउंड आलोचकों और निर्देशकों के सर्वे  द्वारा, दत्त  सबसे बड़े फिल्म निर्देशकों की सूचि में शामिल हैं। उन्हें कभी कभी "भारत का ऑर्सन वेल्स" (Orson Welles)  भी कहा जाता है। 2010 में, उनका नाम सीएनएन के "चुनिंदा  25 एशियाई अभिनेताओं" के सूचि में भी शामिल किया गया।]गुरु दत्त 1950-60  के  दशक की   बेहद कलात्मक  व् उच्च  श्रेणी  की फिल्मों  के लिए जाने  जाते  हैं कहा  जाता  है उनकी  फिल्मे  समय  से बहुत  आगे  थीं उनकी फिल्मों  को देश विदेश  में  होने वाले  फिल्म  समारोह  में  खूब सराहा  जाता  है ।गुरु दत्त  वो  नाम हैं जिनकी वजह  से भारतीय  फिल्मों  को अंतर्राष्ट्रीय  जगत  में बहुत  सम्मान  मिलता  है     



 



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें