Breaking News
शहनाज हुसैन ने बताये होली में कैसे हानिकारक रंगों से बाल, त्वचा को बचाएं         ||           शेयर बाजार : आगामी सप्ताह में आर्थिक आंकड़ें तय करेंगे बाजार की चाल         ||           सीरियाई संघर्षविराम का प्रस्ताव संयुक्त राष्ट्र में पारित         ||           मोगादिशू विस्फोट में मरने वालो की संख्या बढ़कर 32 हुई         ||           मेक्सिको के राष्ट्रपति ने अमेरिकी दौरा रद्द किया         ||           अभिनेत्री श्रीदेवी का दिल का दौरा पड़ने से निधन         ||           रोमांचक मुक़ाबले में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 7 रन से हराकर सीरीज 2-1 से जीती         ||           धवन-रैना की पारी की बदौलत भारत ने दक्षिण अफ्रीका को दिया 173 का लक्ष्य         ||           राहुल गाँधी ने कहा कांग्रेस ने कर्नाटक में स्वच्छ प्रशासन दिया         ||           मायावती ने कहा धन्नासेठों का तुष्टीकरण कर रही मोदी सरकार         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने उबर के सीईओ से चर्चा की         ||           राहुल गाँधी का दिल्ली में 390 करोड़ रुपये के घोटाले पर मोदी पर हमला         ||           द. अफ्रीका ने टॉस जीता, पहले गेंदबाजी का फैसला         ||           अमिताभ ने कहा गाने रिकॉर्ड करना अब ज्यादा जटिल हो गया है         ||           कनाडा से रिश्तो पर काली छाया         ||           रूसी सेना को राष्ट्रपति पुतिन ने सम्मानित किया         ||           जेडीयू ने कहा बिहार में 46 नरसंहारों में 378 दलितों की हत्या के लिए माफी मांगें तेजस्वी         ||           मप्र उपचुनाव में कोलारस में 44 और मुंगावली में 47 प्रतिशत मतदान         ||           कांग्रेस ने कहा मोदी दुनिया के सबसे महंगे चौकीदार         ||           केन विलियमसन ने कहा टी-20 के खराब प्रदर्शन का असर वनडे में नहीं दिखेगा         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> हार्ट ऑफ एशिया सम्मेलन-अफगान राष्ट्रपति ने पाकिस्तान को 'आतंक का अभयारण्य' बताया

हार्ट ऑफ एशिया सम्मेलन-अफगान राष्ट्रपति ने पाकिस्तान को 'आतंक का अभयारण्य' बताया


Vniindia.com | Sunday December 04, 2016, 06:32:03 | Visits: 417







अमृतसर, 4 दिसम्बर (वीएनआई)। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए आज सीधे पाकिस्तान का नाम लेते हुए कहा कि यदि पड़ोसी देश से आतंकियों को समर्थन मिलना जारी रहेगा तो आर्थिक सहायता की कोई भी राशि युद्ध से तबाह देश को मजबूत होने में मदद नहीं कर सकती।

गनी की यह कठोर टिप्पणी अफगानिस्तान पर छठे 'हार्ट ऑफ एशिया सम्मेलन-इस्तानबुल प्रक्रिया' में की। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में आतंकियों के खिलाफ सैन्य अभियान कुछ चुनिंदा आतंकियों को उनके ठिकानों से हटाने के लिए चलाए गए।

संवाद समिति आईएएनएस के अनुसार गनी ने कहा, "पाकिस्तान में सरकार प्रायोजित अभयारण्य मौजूद हैं। तालिबान के एक अधिकारी ने हाल में कहा था कि यदि पाकिस्तान में उन्हें सुरक्षित पनाहगाह न मिले तो वे एक माह भी नहीं टिके रह पाएंगे।"

अफगानिस्तान के विकास पर आयोजित दो दिवसीय कार्यक्रम में भाग लेते हुए अफगानिस्तान के राष्ट्रपति गनी ने यह बात कही। इस सम्मेलन में पाकिस्तान की विदेश नीति के सलाहकार सरताज अजीज भी हिस्सा ले रहे हैं।

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति ने युद्ध से तबाह अपने देश के पुननिर्माण के लिए 50 करोड़ डॉलर दान देने के पाकिस्तान की पेशकश के लिए पाकिस्तान को धन्यवाद दिया, लेकिन सरताज अजीज को प्रत्यक्ष रूप से संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, "जनाब अजीज, मैं आशा करता हूं कि महोदय आप इसका इस्तेमाल पाकिस्तान में आतंकियों एवं चरमपंथियों से लड़ने के लिए करेंगे।"

गनी ने भारत की पाकिस्तान से होने वाले सीमा पार के आतंकवाद की चिंता को साझा किया और कहा कि दुनिया को इस बुराई से लड़ने की जरूरत है।

उन्होंने कहा, "अफगानिस्तान में पिछले वर्ष सबसे अधिक संख्या में लोग हताहत हुए। यह अस्वीकार्य है। कुछ देश अब भी आतंकियों को सुरक्षित ठिकाना मुहैया करा रहे हैं।"

राष्ट्रपति ने कहा कि वह पंजाब के इस शहर में आयोजित कार्यक्रम में आरोप-प्रत्यारोप के खेल में शामिल होना नहीं चाहते, सम्मेलन में दक्षिण और मध्य एशिया और कई पश्चिमी देशों के नेता शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि वह आतंक के निर्यात को रोकने के लिए क्या किया जा रहा है, इस बारे में स्पष्टीकरण चाहते हैं।


इससे पहले गनी ने अफगानिस्तान के विकास के लिए भारत के बिना शर्त सहायता की सराहना की। उन्होंने कहा कि चाबाहार बंदरगाह का विस्तार भारत, ईरान और उनके देश के बीच क्षेत्रीय व्यापार और संपर्क के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।


Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें