Breaking News
अमित शाह ने छत्तीसगढ़ में कहा अबकी बार जड़ से उखाड़ फेकेंगे कांग्रेस को         ||           भारत ने टॉस जीता, बांग्लादेश को पहले बल्लेबाज़ी का न्योता         ||           सेंसेक्स 280 अंक की गिरावट पर बंद         ||           राहुल गांधी ने पश्चिम बंगाल कांग्रेस में किया बड़ा बदलाव         ||           राजीव गांधी खेलरत्न पुरस्कार         ||           डोनाल्ड ट्रंप ने सहारा रेगिस्तान पर स्पेन को दीवार बनाने को कहा था         ||           जेडीयू ने अयोध्या में राम मंदिर को लेकर दिया बड़ा बयान         ||           अमेरिका ने भारत-पाक के विदेश मंत्रियों की बैठक को शानदार बताया         ||           आज का दिन : विश्व अल्जाइमर दिवस         ||           जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने तीन पुलिसकर्मियों को अगवा कर हत्या की         ||           वियतनाम के राष्ट्रपति त्रान दाई का 61 वर्ष की आयु में निधन         ||           मायावती के दोहरे झटके के बाद की कमलनाथ ने दी पहली प्रतिक्रिया         ||           नील नितिन मुकेश बेटी के पिता बने         ||           मायावती का छत्‍तीसगढ़ में अजीत जोगी से गठबंधन         ||           मायावती ने मध्‍य प्रदेश में अकेले लड़ने का ऐलान किया         ||           अक्षर पटेल और शार्दुल ठाकुर भी चोट के कारण एशिया कप से बाहर         ||           पाकिस्‍तान प्रधानमंत्री इमरान ने प्रधानमंत्री मोदी से शांति की अपील की         ||           हसन नसरुल्ला ने कहा अगली सूचना तक सीरिया में बना रहेगा हिज्बुल्ला         ||           कांग्रेस ने सीमा पर जवान के साथ दरिंदगी पर पूछा, 56 इंच का सीना और लाल आंख कहां हैं         ||           आज का दिन :         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> बुद्धम शरणम गच्छामि- आईये चले बौद्ध तीर्थ स्थलो की यात्रा पर, रेलवे की बौद्ध पर्यटन सर्किट लक्ज़री ट्रेन से...

बुद्धम शरणम गच्छामि- आईये चले बौद्ध तीर्थ स्थलो की यात्रा पर, रेलवे की बौद्ध पर्यटन सर्किट लक्ज़री ट्रेन से...


Vniindia.com | Saturday October 31, 2015, 02:40:48 | Visits: 2021







नई दिल्ली, 26 अक्टूबर (शोभनाजैन,वीएनआई) बुद्धम शरणम गच्छामि- यानि भारतीय रेल की बौद्ध पर्यटन सर्किट के दर्शन के लिये ले जाने वाली विशेष ट्रेन.यह विशेष रेलगाड़ी इस सीजन की पहली यात्रा पर आज रवाना हो गई. यह यात्रा कुल आठ दिन की होगी जिसमे सैलानी और श्रद्धालु बौद्ध सर्किट के स्थलो के परिक्रमा दर्शन कर सकेंगे.इस सीजन में यह यह ट्रेन छह यात्राएं करेगी। अब अगली बौद्ध सर्किट यात्रा के 26 दिसंबर को रवाना होने का कार्यक्रम है भारतीय रेल, बौद्ध पर्यटन सर्किट विशेष ट्रेन अपने उपक्रम इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आईआरसीटीसी) के माध्यम से संचालित करती है
इस यात्रा की शुरुआत दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन से होती है। दिल्ली से 7 रातों और 8 दिन की यात्रा के दौरान यह ट्रेन बोधगया, राजगीर, नालंदा, सारनाथ, कुशीनगर, लुंबिनी, श्रावस्ती जैसे महत्वपूर्ण स्थलों पर रुकते हुए अपनी यात्रा ताजमहल (आगरा) में संपन्न करेगी।
शायद इस यात्रा के विस्तृत कार्यक्रम मे आपकी दिलचस्पी हो.प्रत्येक दिन की यात्रा का विस्तृत कार्यक्रम इस प्रकार है: -
पहला दिन- दिल्ली से (दोपहर में दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन से) गया के लिए प्रस्थान।
दूसरा दिन- सुबह गया में आगमन। बोधगया भ्रमण। रात्रि विश्राम होटल में।
तीसरा दिन- राजगीर और नालंदा का भ्रमण। शाम को वाराणसी के लिए प्रस्थान।
चौथा दिन- सुबह में वाराणसी में आगमन। सारनाथ का भ्रमण। सांयकालीन आरती के लिए गंगा का भ्रमण। शाम को गोरखपुर के लिए प्रस्थान।
पांचवा और छठा दिन- सुबह गोरखपुर में आगमन। कुशीनगर/लुम्बिनी का भ्रमण। रात्रि विश्राम होटल में। होटल में नाश्ता, पर्यटन स्थलों का भ्रमण।
होटल में दोपहर का खाना। गोरखपुर को वापसी। गोंडा के लिए प्रस्थान।
सातवां दिन - सुबह गोंडा में आगमन। श्रावस्ती का भ्रमण। शाम को गोंडा से आगरा के लिए प्रस्थान।
आठवां दिन- सुबह आगरा में आगमन। ताजमहल का भ्रमण। दोपहर में दिल्ली के लिए प्रस्थान।
शाम को दिल्ली (दिल्ली सफदरजंग रेलवे स्टेशन) में वापसआगमन।
रेलवे के एक अधिकारी के अनुसार बौद्ध पर्यटन सर्किट विशेष ट्रेन की शुरूआत इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिजम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आईआरसीटीसी- रेल मंत्रालय के तहत भारत सरकार का सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम एक मिनी रत्न) के माध्यम से 2007 में की गयी थी। जिसका उद्देश्य बौद्ध सर्किट अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के साथ-साथ घरेलू यात्रियों के लिए एक सुरक्षित, आरामदायक और विश्वसनीय टूर पैकेज की पेशकश करना था।
यह पूरी तरह से वातानुकूलित ट्रेन है जिसकी क्षमता 271 सीटों की हैं। फर्स्ट एसी में 72 बर्थ, सेकेण्ड एसी में 138 बर्थ और थर्ड एसी में 64 बर्थ हैं। पूरे टूर पैकेज में ट्रेन यात्रा, होटल आवास, सड़क परिवहन, टूर गाइड सेवा, यात्रा प्रबंधक सेवाएं, भोजन, यात्रा बीमा, सुरक्षा और स्मारक प्रवेश शुल्क भी शामिल है। इस ट्रेन को फ़रवरी 2009 में भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय द्वारा उत्कृष्टता के प्रतिष्ठित राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।
वर्ष 2015-16 के लिए इस ट्रेन की आगामी निर्धारित प्रस्थान तिथियाँ हैं: -26 दिसंबर, 2015, 9 जनवरी,2016, 13 फरवरी,2016 तथा फिर 12 मार्च, 2016 को होगी.वी एन आई

Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें