Breaking News
आज का दिन :         ||           आईपीएल कार्यक्रम         ||           संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सर्विसेज परीक्षा के लिए अधिसूचना         ||           माघ पूर्णिमा         ||           किडनी-लिवर बेचने वाले गिरोह का कानपुर पुलिस ने किया पर्दाफाश         ||           सहमति शिव सेना और बीजेपी में         ||           कुलभूषण जाधव केस मे इंटरनेशन कोर्ट में सुनवाई शुरू         ||           राहुल की मौजूदगी मे कांग्रेस में शामिल हुए सांसद कीर्ति आजाद         ||           मारा गया पुलवामा आतंकी हमले का मास्टरमाइंड ग़ाज़ी         ||           आज का दिन :         ||           आज का दिन :         ||           वायु शक्ति-2019         ||           क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया का अनूठा विरोध         ||           पुलवामा हमला-कश्मीर के पॉच अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा हटाई गई         ||           महानायक शहीदों की आर्थिक मदद के लिए आगे आए हैं.         ||           Hyderabad Special Tomato Chutney         ||           ब्रिटेन ने अपने नागरिकों को पाकिस्तान से सटे सीमाई इलाकों से दूर रहने की सलाह दी         ||           पुलवामा आतंकी हमले पर चीन की संवेदना में पाकिस्तान व जैश का जिक्र नही         ||           ठोको ताली-सिद्धू का कपिल शर्मा शो से जाना पहले से तय था         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने कहा हम छेाड़ते नहीं, किसी ने छेड़ा तो छोड़ते नहीं         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> दिल के अरमां आसुंओ मे बह गये

दिल के अरमां आसुंओ मे बह गये


Vniindia.com | Tuesday June 16, 2015, 12:24:40 | Visits: 1254







पटियाला 16 जून (वीएनआई) लुधियाना में एक्टिंग इंस्टीट्यूट खोलने का सपना रखने वाले तथा लाइफ-टाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित अभिनेता सतीश कौल आज बेहद् खराब हालत मे अपनी ज़िंदगी बिता रहे हैं. 300 से ज़्यादा हिंदी और पंजाबी फ़िल्मों में अपने काम से चर्चा पाने वाले तथा दिलीप कुमार, देव आनंद, अमिताभ बच्चन और शाहरुख़ ख़ान जैसे सितारों के साथ काम करने वाले अभिनेता के सितारे आजकल गर्दिश मे हैं उल्लेखनीय है कि 100 से ज़्यादा पंजाबी और हिंदी फ़िल्में में उन्होने बतौर हीरो काम किया.

गौरतलब है कि गत वर्ष सतीश का बाथरूम में पैर फिसलने के कारण उनकी कूल्हे की हडडी टूट गयी थी ,जिस कारण उ्नको पटियाला के एक प्राईवेट अस्पताल में दाख़िल करवाया गया उनके इलाज पर काफी पैसा खर्च हो गया, सतीश अब ठीक होने के बावजूद पटियाला के एक छोटे से अस्पताल \'ज्ञानसागर\'में रह रहे हैं क्योंकि उनके पास अस्पताल के बाहर ठिकाना नहीं है, इसी अस्पताल में उनका इलाज इंसानियत के नाते हो रहा है,बद्किस्मति से आज ना तो उनके सिर पर छत है और न ही खाने के पैसे.

बंद दरवाज़ा (रामसे ब्रद्रर्स), आग ही आग (धर्मेंद्र), वारंट (देव आनंद) जैसी फ़िल्मों में काम कर चुके 70 वर्षीय सतीश को बॉलीवुड से किसीकी मदद नही मिली . पंजाबी गायक हरभजन मान और पटियाला के कुछ लोगों को छोड़कर सतीश से मिलने कोई नहीं आया

सतीश ने मदद की गुहार लगाते हुए कहा कि \"कई लोगों ने मेरी हालत देख कर वादे तो किए, लेकिन निभाया किसी ने नहीं. अब 70 का हो चुका हूं और इसी उम्मीद में जी रहा हूं कि शायद मेरे काम को देख कर कोई मेरी थोड़ी मदद कर दे.

Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें