Breaking News
प्रकाश आंबेडकर ने दिया कांग्रेस-राकांपा संग गठबंधन का संकेत         ||           रोनाल्डो के गोल से फीफा विश्व कप में मोरक्को के खिलाफ जीता पुर्तगाल         ||           कांग्रेस ने कहा सरकार ने किसानों को एमएसपी पर धोखा दिया         ||           भाजपा ने कहा आईयूएमएल ने रोहित वेमुला के परिवार को धोखा दिया         ||           वित्तमंत्री जेटली ने कहा अरविंद सुब्रह्मण्यम का कार्यकाल नहीं बढ़ाया जाएगा         ||           सेंसेक्स 261 अंकों की तेजी पर बंद         ||           बॉबी देओल 'रेस-3' की सफलता से बेहद खुश हैं         ||           एंडी मरे को हराकर क्वींस क्लब के क्वार्टर फाइनल में किर्गियोस         ||           राजनाथ ने कहा जम्मू एवं कश्मीर से आतंकवादी संगठनों को मार भगाएंगे         ||           कुमारस्वामी ने कहा जुलाई में पूर्ण बजट पेश करूंगा         ||           मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने मदुरै में एम्स के लिए मोदी का आभार जताया         ||           प्रधानमंत्री मोदी झाबुआ की किसान महिलाओं से हुए मुखातिब         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने कहा किसानों की आय बढ़ रही         ||           रेखा 20 साल बाद आईफा 2018 में लाइव परफॉर्म करेंगी         ||           दिनेश चंडीमल पर बॉल टेम्परिंग मामले में एक मैच का प्रतिबंध         ||           छत्तीसगढ़ के अतिरिक्त मुख्य सचिव का जम्मू एवं कश्मीर तबादला         ||           रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने शहीद औरंगजेब के परिवार से मुलाकात की         ||           नेपाल और चीन ने 2.24 अरब डॉलर के 8 समझौते किए         ||           दुनिया का सर्वश्रेष्ठ रेस्तरां इटली का ओस्टेरिया फ्रांसेस्काना         ||           जम्मू एवं कश्मीर में राज्यपाल शासन लागू         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> 'चल उड़ जा रे पंछी'...मोहम्मद रफी की पुण्य तिथि पर विशेष

'चल उड़ जा रे पंछी'...मोहम्मद रफी की पुण्य तिथि पर विशेष


Vniindia.com | Friday July 31, 2015, 10:35:50 | Visits: 1506







'नई दिल्ली 31 जुलाई (जेसुनील, वीएनआई)्मखमली आवाज के मालिक प्रख्यात पार्श्व गायक मोहम्मद रफी अपने एक फिल्मी गीत की रकम लेकर स्टुडिओ की लिफ्ट मे घुस रहे थे, लिफ्ट ऑपरेटर के चेहरे पर परेशानी देख उन्होने अपने साथी से पूछा, पता लगा बेटी की शादी के लिए पैसा नही होने की चिंता उसे परेशान कर रही थी उन्होंने तुरंत जेब मे हाथ डाला और उसे अपने एक गाने के लिए मिले सारे पैसे दे दिये और मुसकरा कर कहा' बेटी के लिये दुआये करूंगा'. मोहम्मद रफी की 35 वी पुण्य तिथि के मौके पर रफ़ी साहिब के संगीत को समर्पित रफ़ी फाउंडेशन मेमोरियल सोसाइटी ने दिल्ली मे एक संगीतमय कार्यक्रम " चल उड़ जा रे पंछी..." आयोजित कार्यक्रम मे यह संसमरण उनके दामाद परवेज ने सुनाया ।

फाउंडेशन के सचिव ज़ोरावर चौगानी ्ने बताया कि रफ़ी फाउंडेशन साल दर साल रफ़ी साहिब की पुण्य तिथि पर कार्यक्रम आयोजित करता रहा है, "हम रफी साहब की बरसी पर उन्हें याद करते हैं और संगीत की सभाएं आयोजित करते हैं। कई साल से यह सिलसिला जारी है। यह भारतीय संगीत के क्षेत्र में मानवीय बाधाओं और सीमाओं के परे उनके महत्वपूर्ण योगदान को याद करने का एक तरीका है।" इस बरस के मुख्य अतिथि थे रफ़ी साहिब की बेटी यास्मीन और दामाद, रफ़ी साहिब के दामाद परवेजजी ने बताया की कैसे रफ़ी बड़े गायक ही नही एक दरियादिल, बड़े दिल वाले इंसान थे । दरियादिली कायह आलम था कि संगीत कार सी.अर्जुन ने उनका कदम देख एक बार बेहद सहमते हुए उनसे एक गाने के लिए कहा , रफ़ी ने वो गाना गाया और वो गाना सुपरहिट साबित हुआ ।
कार्यक्रम एक दिव्य संगीत अनुभव था । रफी 40 साल तक भारतीय सिनेमा से जुड़े रहे। उन्होंने एक के बाद एक भावनात्मक सुपर हिट गीत दिये. आलम यह रहा कि बाबुल की दुआये लेती जा विदाई गीत भारत मे बेटियो के विदाई के वक्त का विदाई गीत बन गया 'चौदहवीं का चांद', 'अभी न जाओ छोड़ के' 'तेरी आंखों के सिवा' और 'तुम जो मिल गए हो' जैसे कई यादगार गीत दिए। उन्हें 1967 में पद्मश्री सम्मान से नवाजा गया था। उनका 31 जुलाई, 1981 में 56 साल की आयु में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था।वी एन आई
चल उड़ जा रे पंछी'...मोहम्मद रफी की पुण्य तिथि पर विशेष

Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें