Breaking News
लापरवाही से गाड़ी चलाने के आरोप में रहाणे के पिता हिरासत में         ||           लालू ने आरोप लगाया, जद (यू) ने आत्मचिंतन की दी सलाह         ||           कांग्रेस ने कहा सोनिया ने राजनीति नहीं छोड़ी है         ||           प्रियंका और कैटरीना पुरस्कार समारोह में प्रस्तुति देंगी         ||           उत्तर कोरिया पर जापान ने नए एकतरफा प्रतिबंध लगाए         ||           सेंसेक्स में 216 अंकों की तेजी पर बंद         ||           रूस में राष्ट्रपति चुनाव अगले साल 18 मार्च को         ||           अफरीदी ने टी-10 मैच में ली हैट्रिक         ||           भूमि पेडनेकर ने कहा मुझे मेकअप पसंद है         ||           कश्मीर में अलगाववादी नेता मीरवाइज हिरासत में लिए गए         ||           आस्ट्रेलिया एशेज सीरीज में खराब शुरुआत के बाद संभला         ||           तेजस्वी ने कहा एग्जिट पोल पर खुश होने वाले बिहार चुनाव परिणाम को याद करें         ||           आज का दिन:         ||           तीन तलाक पर विधेयक को मंत्रिमंडल की मंजूरी         ||           'न्यूटन' ऑस्कर की दौड़ से हुई बाहर         ||           सोनिया गाँधी ने कहा अब मेरी भूमिका रिटायर होने की         ||           करीना ने कहा सोहा सशक्त महिला हैं         ||           राजस्थान रॉयल्स का आईपीएल टीमों ने स्वागत किया         ||           सर्वोच्च न्यायालय ने आधार को लिंक करने की समय सीमा बढ़ाई         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने सरदार पटेल को उनकी पुण्यतिथि पर याद किया         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> आतंकवाद को धर्म से न जोड़ा जायेः नरेंद्र मोदी

आतंकवाद को धर्म से न जोड़ा जायेः नरेंद्र मोदी


Vniindia.com | Tuesday November 17, 2015, 07:40:27 | Visits: 352







अंताल्या,तुर्की 17 नवंबर (वीएनआई) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तुर्की में जी-20मे कहा कि आतंकवाद को धर्म से अलग रखा जाये और इसका समर्थन करने वालों को अलग थलग किया जाये, साथ ही दुनिया भर के दिग्गज नेताओं ने कहा है कि आई एस को हराने के लिए सांझी सोच और एकजुटता की ज़रूरत है.
इन नेतायों ने एक बयान जारी कर कहा कि वो 'आतंकवाद को मिलने वाली आर्थिक मदद से निपटने के लिए प्रतिबद्ध हैं' बयान के अनुसार आतंकियों को मिलने वाली आर्थिक मदद को प्रतिबंधों के ज़रिए भी रोका जाएगा.खास तौर पर आतंकवादियों की सम्पत्तियों को जब्त करने और आतंकवादियों की आर्थिक मदद को आपराधिक कार्य घोषित करने के लिए वे सूचनाओं के आदान प्रदान करने में आपसी सहयोग जारी रखेंगे। बयान के अनुसार, ‘हम सख्त से सख्त शब्दों में पेरिस में 13 नवंबर और अंकारा में 10 अक्तूबर को हुए बर्बर आतंकी हमलों की निंदा करते हैं। यह पूरी मानवता के लिए अस्वीकार्य है।’ इसमें कहा गया, ‘हम आतंकी हमलों के शिकार लोगों और उनके परिवारों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करते हैं। हम आतंकवाद के सभी स्वरूपों और जहां भी यह घटता है, उसके विरुद्ध एकजुटता और उससे लड़ने के संकल्प को दोहराते हैं।’ समूह के नेताओं ने कहा कि वे आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में एकजुट हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी-20 के रात्रि भोज में 'ग्लोबल चैलेंज-टेरररिज्म एंड रिफ्यूजी क्राइसिस' मे कहा कि कई देश आतंक को ‘राज्य की नीति के उपकरण’ के तौर पर इस्तेमाल कर रहे हैं और उन्हें अलग थलग किए जाने की जरूरत है, उन्होंने कहा, ‘हमारे पास आतंकवाद से निपटने के लिए समग्र वैश्विक रणनीति नहीं है। और हमारे पास जो साधन हैं, उनका हम उपयोग हम केवल चुनिंदा तौर पर ही करते हैं।’
यूं तो दुनिया के सबसे अमीर और शक्तिशाली देशों के समूह जी-20 सम्मेलन विश्व अर्थव्यवस्था पर ही केंद्रित रहता है पर इस बार पेरिस हमलों का मुद्दा छाया रहा.
गौरतलब है कि शुक्रवार को पेरिस में इस्लामिक स्टेट के हमलों में लगभग 130 लोग मारे गए.अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन सहित जी20 के सभी नेताओं ने पेरिस पर हुए बर्बर हमले की निंदा की और इस बात को दोहराया कि आतंकवाद से लड़ने के लिए वे एक रहेंगे।
इसके अलावा अंताल्या घोषणा में वैश्विक पलायन की समस्या का भी उल्लेख किया गया और सभी देशों से इस समस्या का समाधान करने की अपील की गई।

Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें