Breaking News
अभिनेता श्याम के जन्मदिन पर         ||           मोरक्को के साथ रेल सहयोग समझौते को केंद्रीय मंत्रिमंडल की मंजूरी         ||           आज का दिन :         ||           राशिद की बदौलत अफगानिस्तान ने 4-1 से जीती सीरीज         ||           अग्नि 2 मिसाइल का भारत ने परीक्षण किया         ||           सीबीआई की पीएनबी घोटाले में पूछताछ जारी         ||           जम्मू एवं कश्मीर में हल्के भूकंप के झटके         ||           तेजस्वी ने नीतीश की जापान यात्रा पर कसा तंज         ||           आप और भाजपा में दिल्ली के मुख्य सचिव के साथ 'बदसलूकी' पर तकरार         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने अरुणाचल, मिजोरम को स्थापना दिवस की बधाई दी         ||           भारतीय हॉकी टीम की सुल्तान अजलान शाह कप के लिए घोषणा         ||           ऋचा चड्ढा ने कहा मैं फिल्म की क्षमता के आधार पर ही हामी भरती हूं         ||           हरदीप पुरी ने कहा स्मार्ट सिटीज योजना देश के शहरों में बदलाव की शुरुआत         ||           बाहुबली महामस्तकाभिषेक के प्रथम कलश की अलौकिक अनुभूति और जन कल्याण...         ||           शीर्ष न्यायालय पीएनबी घोटाले में बैंक उच्च अधिकारियों की भूमिका पर करेगा सुनवाई         ||           सीबीआई की रोटोमैक मामले में छापेमारी जारी         ||           पेरू के पूर्व राष्ट्रपति पर फिर चलेगा मुकदमा         ||           राजधानी दिल्ली में सुबह हल्का कोहरा छाया         ||           शेयर बाजार हरे निशान पर खुले         ||           मिस्र को इजरायल का गैस निर्यात के लिए करार         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> कोयले की जगह रद्दी नोट जलाकर बनी बिजली

कोयले की जगह रद्दी नोट जलाकर बनी बिजली


Vniindia.com | Wednesday January 06, 2016, 08:38:33 | Visits: 503







यांगशेन, चीन 6 जनवरी (वीएनआई) चीन के यांगशेन शहर में बिजली उत्पन्न करने के लिए एक अनोखा तरीका अपनाते हुए अपनी करेंसी को ही जलाना शुरू कर दिया है. चीन के सेंट्रल बैंक ने प्रदूषण पर रोक लगाने और बिजली उत्पादन के लिए हो रहे कोयले के इस्तेमाल को कम करने के उद्देश्य से पहली बार बैंकों में पड़े गंदे नोट को जलाने संबंधी निर्देश पावर कंपनी को दिए हैं. कंपनी के इस कदम के बाद तो चीन में जैसे हलचल मच गई थी. अब यहां हर महीने करीब 30 टन नोटों की रद्दी जलाकर बिजली बनाई जा रही है। माना जा रहा है कि इस तरह से नोटों की रद्दी जलाने से एक घर को 25 साल तक लगातार बिजली आपूर्ति मिल सकेगी।
अब तक शहर में 1800 टन ऐसी रद्दी को जला दिया गया है। सरकार ने 12 नवंबर को 100 युआन के नए नोट जारी किए थे। जलाने से पहले इनके बारिक टुकड़े किए जाते हैं जिसके बाद इसे मशीन में डालकर जला दिया जाता है। हर महीने आते हैं पांच ट्रक शहर में बिजली बनाने के हर महीने पांच ट्रक शहर पहुंचते हैं।हर ट्रक में 30 टन रद्दी नोट होते हैं, जिनकी कुल कीमत तीन अरब युआन तक होती है। हर ट्रक में जितने नोट होते हैं, उससे 30 हजार किलोवॉट की बिजली पैदा हो सकती है।.
नोटों से केवल बिजली नहीं, बल्कि ईंटें भी बनती हैं। जलने के बाद बेकार बची राख को ईंटों के निर्माण के काम में लिया जाता है। इससे यह सुनिश्चित किया जाता है कि नोटों की राख से पर्यावरण को किसी तरह की नुकसान न हो इसलिए यह पर्यावरण प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिहाज से भी सही है

Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें