Breaking News
राजधानी दिल्ली में ठंड का कहर जारी, 7 लोगों की मौत         ||           कन्नौज से चुनाव लड़ सकती हैं डिंपल यादव         ||           मायावती ने कहा मैं कांशीराम की शिष्या हूँ, उन्हीं की स्टाइल में दूंगी जवाब         ||           आज का दिन : सुचित्रा सेन         ||           श्रीनगर में पुलिस टीम पर ग्रेनेड अटैक में तीन पुलिसकर्मी घायल         ||           राम माधव ने कहा राष्ट्र विरोधी ताकतों से कानूनी प्रकिया के जरिए ही निपटना होगा         ||           एन. श्रीनिवासन ने कहा बीसीसीआई में गड़बड़ी         ||           राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद गंगा पूजन के लिए प्रयागराज पहुंचे         ||           शशि थरूर ने कहा मोदी को मिला फर्जी फिलिप कोटलर अवॉर्ड पीएमओ को लौटा देना चाहिए         ||           फिल्म निर्माता ने मंदिर में की आत्महत्या         ||           पेट्रोल-डीजल आज फिर महंगा हुआ         ||           माली में आतंकवादियों के हमले में 10 लोगों की मौत         ||           एनआईए ने पश्चिम यूपी और पंजाब समेत 7 ठिकानों पर छापेमारी की         ||           दिल्ली के खयाला इलाके में हिंसा में एक की मौत, दो घायल         ||           देश के शेयर बाज़ारो के शुरूआती कारोबार में तेजी का असर         ||           दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में ठंड कहर जारी, कई ट्रेनें लेट         ||           भाजपा अध्यक्ष अमित शाह एम्स में भर्ती, स्वाइन फ्लू की शिकायत         ||           कोहली ने कहा भारत को टेस्ट की सुपरपावर बनते देखना चाहता हूं         ||           अमेरिका ने कहा चीन से कई देशों की संप्रभुता को खतरा         ||           केसीआर के बेटे रामाराव ने जगन मोहन रेड्डी से मुलाकात की         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> कोयले की जगह रद्दी नोट जलाकर बनी बिजली

कोयले की जगह रद्दी नोट जलाकर बनी बिजली


Vniindia.com | Wednesday January 06, 2016, 08:38:33 | Visits: 629







यांगशेन, चीन 6 जनवरी (वीएनआई) चीन के यांगशेन शहर में बिजली उत्पन्न करने के लिए एक अनोखा तरीका अपनाते हुए अपनी करेंसी को ही जलाना शुरू कर दिया है. चीन के सेंट्रल बैंक ने प्रदूषण पर रोक लगाने और बिजली उत्पादन के लिए हो रहे कोयले के इस्तेमाल को कम करने के उद्देश्य से पहली बार बैंकों में पड़े गंदे नोट को जलाने संबंधी निर्देश पावर कंपनी को दिए हैं. कंपनी के इस कदम के बाद तो चीन में जैसे हलचल मच गई थी. अब यहां हर महीने करीब 30 टन नोटों की रद्दी जलाकर बिजली बनाई जा रही है। माना जा रहा है कि इस तरह से नोटों की रद्दी जलाने से एक घर को 25 साल तक लगातार बिजली आपूर्ति मिल सकेगी।
अब तक शहर में 1800 टन ऐसी रद्दी को जला दिया गया है। सरकार ने 12 नवंबर को 100 युआन के नए नोट जारी किए थे। जलाने से पहले इनके बारिक टुकड़े किए जाते हैं जिसके बाद इसे मशीन में डालकर जला दिया जाता है। हर महीने आते हैं पांच ट्रक शहर में बिजली बनाने के हर महीने पांच ट्रक शहर पहुंचते हैं।हर ट्रक में 30 टन रद्दी नोट होते हैं, जिनकी कुल कीमत तीन अरब युआन तक होती है। हर ट्रक में जितने नोट होते हैं, उससे 30 हजार किलोवॉट की बिजली पैदा हो सकती है।.
नोटों से केवल बिजली नहीं, बल्कि ईंटें भी बनती हैं। जलने के बाद बेकार बची राख को ईंटों के निर्माण के काम में लिया जाता है। इससे यह सुनिश्चित किया जाता है कि नोटों की राख से पर्यावरण को किसी तरह की नुकसान न हो इसलिए यह पर्यावरण प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिहाज से भी सही है

Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें