Breaking News
विराट कोहली टेस्ट रैंकिंग में पांचवें स्थान पर पहुंचे         ||           राष्ट्रपति कोविंद हड़ताल के बीच मणिपुर पहुंचे         ||           सेंसेक्स 118 अंकों की तेजी पर बंद         ||           प्रियरंजन दासमुंशी के निधन पर विजय मल्होत्रा ने शोक जताया         ||           योगी आदित्यनाथ ने कहा राहुल गांधी वंशवाद की परम्परा को ही आगे बढ़ाएंगे         ||           कांग्रेस ने कहा गुजरात चुनाव के कारण संसद से बच रही है सरकार         ||           आज का दिन:         ||           छिल्लर की जीत पर शिवसेना ने भाजपा पर तंज कसे         ||           ममता ने कहा आधार संख्या जोड़ना समस्याओं से भरा         ||           भारतीय बास्केट में कच्चे तेल की कीमत 60.86 डॉलर प्रति बैरल         ||           माजिद मजीदी ने कहा अपने देश से ज्यादा भारत में मशहूर हूं         ||           पुतिन ने सीरिया युद्ध पर चर्चा के लिए असद से मुलाकात की         ||           इटली फुटबाल संघ के अध्यक्ष का इस्तीफा         ||           नौसेना का आरपीए विमान दुर्घटनाग्रस्त         ||           राजद अध्यक्ष के रूप में लालू की 10वीं बार ताजपोशी         ||           जद (यू) गुजरात में 50 से ज्यादा सीटों पर लड़ेगी चुनाव         ||           आसियान के साथ चीन सहयोग बढ़ाने के लिए तैयार         ||           लीबिया में अगवा डॉक्टर की रिहाई की डब्ल्यूएचओ ने अपील की         ||           दलवीर भंडारी दूसरी बार आईसीजे न्यायाधीश बने         ||           रहमान ने कहा मैं और मजीदी दोनों विशिष्ट वर्ग के         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> कोयले की जगह रद्दी नोट जलाकर बनी बिजली

कोयले की जगह रद्दी नोट जलाकर बनी बिजली


Vniindia.com | Wednesday January 06, 2016, 08:38:33 | Visits: 463







यांगशेन, चीन 6 जनवरी (वीएनआई) चीन के यांगशेन शहर में बिजली उत्पन्न करने के लिए एक अनोखा तरीका अपनाते हुए अपनी करेंसी को ही जलाना शुरू कर दिया है. चीन के सेंट्रल बैंक ने प्रदूषण पर रोक लगाने और बिजली उत्पादन के लिए हो रहे कोयले के इस्तेमाल को कम करने के उद्देश्य से पहली बार बैंकों में पड़े गंदे नोट को जलाने संबंधी निर्देश पावर कंपनी को दिए हैं. कंपनी के इस कदम के बाद तो चीन में जैसे हलचल मच गई थी. अब यहां हर महीने करीब 30 टन नोटों की रद्दी जलाकर बिजली बनाई जा रही है। माना जा रहा है कि इस तरह से नोटों की रद्दी जलाने से एक घर को 25 साल तक लगातार बिजली आपूर्ति मिल सकेगी।
अब तक शहर में 1800 टन ऐसी रद्दी को जला दिया गया है। सरकार ने 12 नवंबर को 100 युआन के नए नोट जारी किए थे। जलाने से पहले इनके बारिक टुकड़े किए जाते हैं जिसके बाद इसे मशीन में डालकर जला दिया जाता है। हर महीने आते हैं पांच ट्रक शहर में बिजली बनाने के हर महीने पांच ट्रक शहर पहुंचते हैं।हर ट्रक में 30 टन रद्दी नोट होते हैं, जिनकी कुल कीमत तीन अरब युआन तक होती है। हर ट्रक में जितने नोट होते हैं, उससे 30 हजार किलोवॉट की बिजली पैदा हो सकती है।.
नोटों से केवल बिजली नहीं, बल्कि ईंटें भी बनती हैं। जलने के बाद बेकार बची राख को ईंटों के निर्माण के काम में लिया जाता है। इससे यह सुनिश्चित किया जाता है कि नोटों की राख से पर्यावरण को किसी तरह की नुकसान न हो इसलिए यह पर्यावरण प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिहाज से भी सही है

Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें