Breaking News
मनमोहन सिंह ने राफेल मामले पर कहा दाल में कुछ काला जरूर है         ||           जम्मू कश्मीर में बात सरकार की         ||           सेंसेक्स 275 अंक की गिरावट पर बंद         ||           जम्मू एवं कश्मीर में कांग्रेस-पीडीपी और उमर मिलकर बना सकते है सरकार         ||           राहुल गाँधी से तेलंगाना के सबसे अमीर सांसद ने मुलाकात की         ||           पेंटागन ने कहा पाक को दी जाने वाली 1.66 बिलियन डॉलर की मदद पर लगी रोक         ||           आप विधायक सोमनाथ भारती ने महिला एंकर को आपत्तिजनक शब्द कहे         ||           तेलंगाना में प्राइवेट जेट क्रैश हुआ, पायलट सुरक्षित         ||           अक्षय कुमार आज पंजाब एसआईटी के सामने आज पेश होंगे         ||           केरल कांग्रेस के कार्यवाहक अध्यक्ष एमआई शानवास का निधन         ||           देश के शेयर बाज़ारो के शुरूआती कारोबार में गिरावट का असर         ||           हिज्बुल मुजाहिदीन का आतंकी दिल्ली में गिरफ्तार         ||           केंद्रीय मंत्री हरिभाई चौधरी ने कहा अगर आरोप सही हुए तो राजनीति छोड़ दूंगा         ||           एमसी मैरीकॉम वर्ल्ड चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में         ||           अमृतसर ब्लास्ट मामले में दो संदिग्ध छात्र बठिंडा से गिरफ्तार         ||           सचिवालय में मुख्यमंत्री केजरीवाल पर मिर्च पाउडर से हमला         ||           सेंसेक्स 300 अंक की गिरावट पर बंद         ||           सुषमा स्वराज ने कहा नहीं लड़ेंगी अगला लोकसभा चुनाव         ||           अशोक गहलोत ने कहा वसुंधरा ने जोधपुर के साथ किया सौतेला बर्ताव         ||           क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने कहा स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर पर प्रतिबंध रहेगा बरकरार         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> इराक मे पिछले दस माह से बंधक 39 भारतीयो के व्यथित परिजनो को सुषमा ने फिर दिलाया भरोसा

इराक मे पिछले दस माह से बंधक 39 भारतीयो के व्यथित परिजनो को सुषमा ने फिर दिलाया भरोसा


Vniindia.com | Thursday March 12, 2015, 01:45:38 | Visits: 543







नई दिल्ली 21 फरवरी ( शोभना जैन,वीएनआई) इराक मे लगभग दस माह पूर्व बंधक बनाये गये 39 भारतीयो की खैरियत को लेकर लगातार चल रही अनिश्चितता के बीच इन भारतीयो के व्यथित परिजनो को सरकार ने आज एक बार फिर भरोसा दिलाया कि सरकार इन बंधको की रिहाई के लिये पूरे प्रयास कर रही है और साथ ही सरकार ने कहा कि उनकी रिहाई मे लगे बहुत से स्त्रोतो का कहना है कि ये भारतीय मारे नही गये है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज इन परिवारो से मुलाकात के बाद कहा \'सरकार इन भारतीयो की रिहाई के लिये जमीन आसमान एक किये हुए है, वह इन सभी देशो और व्यक्तियो से संपर्क मे है, जहा से इनकी रिहाई की मदद् मिल सकतीहै.\' गत मई मे बंधक बनाये जाने के बाद से श्रीमति स्वराज की इन् परिजनो से यह छठी मुलाकात् थी.

विदेश मंत्री ने कहा कि ऐसे कोई सबूत नही है कि वे जिंदा या मारे गये है, उन्होने कहा वे इन परिजनो को लगातार तसल्ली देती रही है उन्हे ईशवर पर भरोसा है कि वे उनकी जरूर् सुनेगा और उन लोगो के प्रयास सफल होंगे. गौरतलब है कि गत वर्ष जून मे इराक के मोर्सुल मे काम् करने गये ४० भारतीयो को आए एस आतंकियो ने अगवा कर लिया था, उनमे से एक तो उनकी गिरफ्त से भाग निकलाथा लेकिन शेष ३९ की खरियत को लेकर अभी तक अनिश्चिचितता बनी हुई है और उन सभी के परिजनो का अपनो की खैरियत जानने और उनकी वापसी को लेकर चिताये लगातार बढती जा रही है.

तीन माह पूर्व भी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने संसद मे कहा था कि इराक में बंधक बनाए गए 39 भारतीय सुरक्षित है और उनके मारे जाने के कोई सबूत नहीं है। उन्होंने कहा था कि, सरकार को छह अलग-अलग सूत्रों से जानकारी मिली है कि 39 भारतीय को नहीं मारा गया है। इन छह सूत्रों के बयानों के आधार पर उनकी जांच की जाएगी। हालांकि उन्होंने कहाकि, वे जिंदा है या मारे गए इसके सबूत नहीं है।

इससे ठीक पहले एक टीवी चैनल ने दावा किया था जून महीने में लापता हुए 40 में से 39 भारतीयों की आईएसआईएस के आतंकियों ने हत्या कर दी है। चैनल के अनुसार इन लोगों को आईएस ने अगवा कर लिया था और उसके बाद इनकी हत्या कर दी गई। चैनल ने यह खबर दो बांग्लादेशी मजदूरों से बातचीत के बाद दी है। हालांकि सरकार ने इस तरह की घटना से इनकार किया है। वी एन आई नई दिल्ली। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का कहना है कि इराक में बंधक बनाए गए 39 भारतीय सुरक्षित है और उनके मारे जाने के कोई सबूत नहीं है। उन्होंने राज्यसभा में बताया कि, हमें छह अलग-अलग सूत्रों से जानकारी मिली है कि 39 भारतीय को नहीं मारा गया है। इन छह सूत्रों के बयानों के आधार पर उनकी जांच की जाएगी। हालांकि उन्होंने कहाकि, वे जिंदा है या मारे गए इसके सबूत नहीं है।

इससे पहले एक टीवी चैनल ने दावा किया था जून महीने में लापता हुए 40 में से 39 भारतीयों की आईएसआईएस के आतंकियों ने हत्या कर दी है। चैनल के अनुसार इन लोगों को आईएस ने अगवा कर लिया था और उसके बाद इनकी हत्या कर दी गई। चैनल ने यह खबर दो बांग्लादेशी मजदूरों से बातचीत के बाद दी है। हालांकि सरकार ने इस तरह की घटना से इनकार किया है।

बांग्लादेशी मजदूर शफी और हसन ने दावा किया कि आईएस के चंगुल से बचकर आए एक भारतीय हरजीत ने उन्हें इस बारे मे बताया। हरजीत ने शफी को बताया कि उसके दल को बगदाद से मोसुल जाने के दौरान अगवा कर लिया गया। दल में 51 बांग्लादेशी और 40 भारतीय थे। 15 जून को सभी 40 भारतीयों को पहाड़ी क्षेत्र में ले गए और सभी को गोली मार दी। हरजीत को भी दो गोलियां लगी लेकिन उसने मरने का नाटक किया। यह जांचने के लिए कि हरजीत मरा या नहीं आतंकियों ने उसे लात मारकर देखा लेकिन उसके शरीर में कोई हलचल नहीं हुई इसक बाद वे उसे मरा समझकर छोड़ गए।

शफी और हसन ने बताया कि शायद हरजीत को गोलियां छूकर निकल गई जिसके चलते वह बच गया। हरजीत से भारतीय एजेसिंयों ने पहले भी बात की थी, उसका मानना है कि उसके दावे का खुलासा नहीं किया गया। वहीं मामले से जुड़े वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि भारतीय बंधकों की वर्तमान स्थिति के बारे में अभी कोई जानकारी नहीं है। उनका मानना है कि आईएस ने अगवा भारतीयों की जगह बदल दी है। सरकार लगातार स्थिति पर नजर बनाए हुए है।

Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें